Gau Mata Ki Aarti | ॐ जय जय गौमाता

Gau Mata aka Indian Cow is worshiped in India by Hindu culture stating that she delivers this worship to all 33 Koti devta (33 Types of Lords categorized as “8 Vasu, 11 Rudra, 12 Adityas, 1 yajna, 1 Ishwar himself“, in the Hindu Religion).

हिन्दी भाषीको को गौ माता का महत्व समझाने की आवश्यकता नही है। आप बस गौ माता की आरती लीरिक्स पे ध्यान दे और जरूरत पडे तो पीडीएफ डाउनलोड कर आपणे प्रियजनो के साथ शेयर करे।

और गौमाता की पूजा किसी त्योहार के दिन ही नहीं बल्कि अन्य दिन या रोजाना अगर आप के घर जो भोजन बनता हो उस मे से एक हिस्सा गौमाता, एक साधु, एक प्रकृति ऐसा निकाल के रखे तो यह पुण्य का काम कहलाता है।

Gau Mata Ki Aarti – गौ माता की आरती

ॐ जय जय गौमाता, मैया जय जय गौमाता
मंगल मुक्ति प्रदयनी मंगल मुक्ति प्रदयनी
जनम मरण त्राता ॐ जय जय गौमाता।।

गुरु वाशिष्ट की सेवा नंदनी चित लाई
कामधेनु से हारे कामधेनु से हारे
सैनिक समुदाई ॐ जय जय गौमाता।।

ब्रह्मा विष्णु विराजे शिव तन भर धारे माता शिव तन पर धारे
गौ मुख से निकली गंगा गौ मुख से निकली गंगा
काज सकल सारे ॐ जय जय गौमाता।।

सूर्यवंश के राजा अमरदिलीप भए माता अमरदिलीप भए
गौ माता की सेवा से गौ माता की सेवा से
पावन मोक्ष गए ॐ जय जय गौमाता।।

भरत भूमि की रक्षा तुमने नित्य करी माता तुमने नित्य करी
पंच द्रव्य का सेवन पंच द्रव्य का सेवन
क्षण मे बुद्धि भई ॐ जय जय गौमाता।।

कलियुग त्रास निवारणी हरत घास भोगी माता हरत घास भोगी
करी अन्न सो सेवा करी अन्न सो सेवा
सुख पावे रोगी ॐ जय जय गौमाता।।

सूर्य चंद्र मानव ग्रह जो प्रताप करे माता जो प्रताप करे
गौ माता की सेवा से गौ माता की सेवा से
पर्तक पुंज टले ॐ जय जय गौमाता।।

गौ सेवा करे आरती जो जन नित गावे माता जो जन नित गावे
कहे मधुर कवि भव से कहे मधुर कवि भव से
पार उतर जावे ॐ जय जय गौमाता।।

ॐ जय जय गौमाता, देवी जय जय गौमाता
मंगल मुक्ति प्रदयनी मंगल मुक्ति प्रदयनी
जनम मरण त्राता ॐ जय जय गौमाता।।

गौ माता की आरती PDF Download

Gau Mata Ki Aarti English Lyrics

Om Jai Jai Gau Mata, Maiya Jai Jai Gau Mata
Mangal Mukti Pradayini, Mangal Mukti Pradayini
Janam Maran Traata, Om Jai Jai Gau Mata।।

Guru Vashisht ki seva Nandani chit laai Kamadhenu se haare,
Kamadhenu se haare Sainik samudai, Om Jai Jai Gau Mata

Brahma Vishnu viraje, Shiv tan bhar dhare
Mata Shiv tan par dhare Gau mukh se nikli Ganga,
Gau mukh se nikli Ganga Kaaj sakal saare, Om Jai Jai Gau Mata

Suryavansh ke raja Amaradilip bhae Mata Amaradilip bhae
Gau Mata ki seva se, Gau Mata ki seva se
Paavan moksha gaye, Om Jai Jai Gau Mata

Bharat bhumi ki raksha tumne nitya kari
Mata tumne nitya kari Panch dravya ka sevan, Panch dravya ka sevan
Kshan mein buddhi bhai, Om Jai Jai Gau Mata

Kaliyug traas nivaarani, Harat ghaas bhogi
Mata Harat ghaas bhogi Kari anna so seva, Kari anna so seva
Sukh paave rogi, Om Jai Jai Gau Mata

Surya Chandra maanav grah jo pratap kare
Mata jo pratap kare Gau Mata ki seva se, Gau Mata ki seva se
Partak punj tale, Om Jai Jai Gau Mata

Gau seva kare aarti jo jan nitya gaave Mata jo jan nitya gaave
Kahe madhur kavi bhav se, Kahe madhur kavi bhav se
Paar utar jaave, Om Jai Jai Gau Mata

Om Jai Jai Gau Mata, Devi Jai Jai Gau Mata
Mangal Mukti Pradayini, Mangal Mukti Pradayini
Janam Maran Traata, Om Jai Jai Gau Mata।।

Also Read This:


Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *