Hindi Geeta Gyan by Krishna – श्रीमद्भगवद्गीता गीता ज्ञान उपदेश महाभारत

SHARE THIS POST

What is Geeta Gyan? The Life-Changing Hindu Granth Bhagwatgeet by Lord Krishna has lots of Geeta Gyan written in Sanskrit shloka but also explained in Hindi. During the greatest fight in Mahabharata, Shree Krishna taught Geeta Gyan to Arjuna and this conversation was broadcasted to Dhritrastra elaborated by Sanjay.

गीता ज्ञान क्या है? जब भारतवर्ष का सबसे बडा महायुद्ध होने वाला था तब अपने लोगो को ही शत्रू पक्ष मे देख अर्जुन ने शस्त्र त्याग दिये थे। तब श्री कृष्ण अर्जुन के सारथी बने थे उन्होणे अर्जुन को अपने दिव्य रूप मे जो ज्ञान दिया उसे गीता ज्ञान और भगवत गीता के नाम से जाणते है। जब समय को रोक श्री कृष्ण अर्जुन को गीता का ज्ञान दे रहे थे तब हस्तिनपूर के राजा ध्रितराष्ट्र को संजय अपने दिव्य दृष्टी से उन्हे सब गीत ज्ञान सुना रहे थे।

गीता मे जो भी लिखा गया है उसका उपयोग कर हम आज भी अपने जीवन को सुखी और सफल बना सकते है। गीता में दिए उपदेश आज भी उतने ही प्रासंगिक हैं और मनुष्य को जीवन जीने की सही राह दिखाते हैं.

गीता ज्ञान सार संक्षिप्त मे:

भगवत गीता का पाठ करना हर किसी को संभव नही है परंतु आप गीता ज्ञान सार के माध्यम से गीता मे दि गायि सीख को संक्षिप्त रूप मे पढ उसे समझ कर अपने जीवन आचरण मे ला संकते है।

भगवद गीता एक महान धार्मिक ग्रंथ है, जो वेद, उपनिषद और वैष्णव सिद्धांत के साथ संबंधित है। यह भगवान श्रीकृष्ण और अर्जुन के बीच हुआ संवाद है जो महाभारत के युद्ध के पहले हुआ था। इस ग्रंथ में जीवन के उच्चतम और गहन तत्त्व को समझाने वाले उपदेश हैं।

नीचे श्रीकृष्ण के द्वारा गीता ज्ञान के उपदेश – गीता ज्ञान की १८ बातें जरूर पढे:

  1. धर्म के मार्ग: भगवद गीता के माध्यम से हमें धर्म के सही मार्ग को समझाया गया है। धर्म का अर्थ है कर्तव्यनिष्ठा और सत्यनिष्ठा।
  2. कर्मयोग: गीता में कहा गया है कि कर्मयोगी व्यक्ति कोई भी कर्म भलीभांति करते हैं और फल की चिंता नहीं करते।
  3. ज्ञान और भक्ति: भगवद गीता में ज्ञान का महत्व और भक्ति के साधना द्वारा भगवान के प्रति प्रेम की महिमा का वर्णन है।
  4. आत्मा और ब्रह्म: गीता के अनुसार, आत्मा अमर है और यह शरीर से अलग है, इसे नष्ट नहीं किया जा सकता। आत्मा ब्रह्म से अभिन्न है।
  5. त्याग और समर्पण: गीता ने त्याग की महत्ता बताई है, साथ ही समर्पण के माध्यम से ही व्यक्ति ईश्वर को प्राप्त कर सकता है।
  6. समता: भगवद गीता ने समता की महिमा और सभी मनुष्यों के प्रति समान भाव को स्थान दिया है।
  7. समस्या का सामना: गीता ने जीवन की समस्याओं से कैसे सामना करना है, इसे कैसे पार किया जाए, इसके उपाय और निदान को समझाया है।
  8. नियंत्रण: भगवद गीता ने मन को नियंत्रित करने और विचारों को शुद्ध करने के उपायों को बताया है।
  9. भगवान के आग्रह: गीता में कहा गया है कि हमें भगवान के आज्ञानुसार जीवन जीना चाहिए, ताकि हम धार्मिक और उदार जीवन बिता सकें।
  10. आत्मविश्वास: गीता में स्पष्ट किया गया है कि हमें अपने आत्मविश्वास पर विश्वास करना चाहिए और कभी भी हार नहीं मानना चाहिए।
  11. अनन्य भक्ति: गीता में अनन्य भक्ति के माध्यम से ही हम भगवान को प्राप्त कर सकते हैं और भगवान हमारे प्रति अत्यंत कृपालु हैं।

यह थे भगवद गीता के ज्ञान सार के कुछ बिंदु। भगवद गीता ने जीवन के सभी पहलुओं को समझाया है और एक समृद्ध और सार्थक जीवन जीने के लिए मार्गदर्शन किया है। इस ग्रंथ का संदेश है कि व्यक्ति को समस्याओं का सामना करने, धर्मपरायण बनने, और आत्मविकास के लिए उत्साहित करते हुए जीवन जीना चाहिए।

यहां भगवद गीता के और कुछ महत्वपूर्ण उपदेश:

  1. संयम: भगवद गीता में संयम का महत्व बताया गया है। व्यक्ति को अपनी इंद्रियों को नियंत्रित करने और मन को शांत करने की कला का सीखाया गया है।
  2. जीवन का उद्देश्य: गीता ने समझाया है कि मनुष्य का उद्देश्य आत्मविकास, धार्मिकता, और सम्पूर्णता को प्राप्त करना है।
  3. समर्थता का विकास: गीता में मन, शरीर, और आत्मा के संयम द्वारा व्यक्ति अपनी समर्थता को विकसित करता है और जीवन के हर क्षेत्र में सफल होता है।
  4. निष्काम कर्म: भगवद गीता ने बताया है कि निष्काम कर्म करने से ही मनुष्य अपने कर्तव्यों को निभाते हैं और फल की चिंता नहीं करते।
  5. आत्मनिरीक्षण: गीता ने आत्मनिरीक्षण के महत्व को बताया है। व्यक्ति को अपने गुणों और दोषों को चिंतन करके उन्हें सुधारने की कला का अध्ययन करना चाहिए।
  6. आत्मसंयम: भगवद गीता में आत्मसंयम का महत्व बताया गया है। व्यक्ति को आत्मवश्य रखकर अपने जीवन को समर्थ बनाना चाहिए।
  7. वैराग्य: गीता ने वैराग्य की महिमा को बताया है। यह भगवान की प्राप्ति का एक मार्ग है जो मनुष्य को आनंद, शांति, और मुक्ति की प्राप्ति के लिए दृढ़ करता है।

भगवद गीता के यह संदेश हमें सार्थक और सफल जीवन के मार्ग पर चलने के लिए प्रेरित करते हैं। इस धार्मिक ग्रंथ के माध्यम से हम अध्यात्मिक उन्नति के लिए प्रयास करते हैं और आत्मज्ञान की प्राप्ति का समर्थन करते हैं। यह जीवन को समर्थ, धार्मिक और आनंदमय बनाने में हमारी मदद करता है।

Download Geeta Gyan Saar in PDF Hindi:

You can download the points mentioned above with popular Shloka mentioned in Bhagwatgeeta in PDF format by using the download button below:

गीता ज्ञान PDF रूप मे डाउनलोड करणे के लीये नीचे दिये बटन का इस्तमाल करे:

गीता ज्ञान PDF डाउनलोड

Hindi Geeta Gyan by Krishna
PDF Nameगीता ज्ञान हिन्दी सार
No. of Pages10
PDF Size2.1 MB
LanguageHindi
PDF CategoryHindu PDF
Last UpdatedJuly 21, 2023
Source / CreditsN.A.
Uploaded ByPDF-TXT.COM

संपूर्ण भगवत गीता के 700 श्लोक PDF डाउनलोड करे और पढे


सुने श्री कृष्ण को अर्जुन को उपदेश देते हुये – संपूर्ण भगवत गीता ज्ञान २ घंटे मे:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *